चपरासी से 10 करोड़ की कंपनी के मालिक बनने का सफ़र | Chhotu Sharma Owner Of CS Soft Solution Success Story In Hindi

By | September 22, 2020

Chotu Sharma Owner Of CS Soft Solution Success Story In Hindi

छोटू शर्मा जी वह हस्ती हैं, जिन्होंने मुश्किल से मुश्किल परिस्थतियों में भी हिम्मत नहीं हारी। अपने जीवन सफर की शुरुआत चपरासी जैसे छोटे पद से करते हुए आज वो एक successful Business man है। और आज वो 10 Crore Net Worth की कंपनी CS Soft Solution के proud owner हैं। और वह चंडीगढ़ में ‘गुरु ऑफ़ माइक्रोसॉफ्ट टेक्नोलॉजी’ के नाम से प्रसिद्ध है.

छोटू शर्मा की सफलता की कहानी ( Chotu Sharma Owner Of CS Soft Solution Success Story In Hindi )

छोटू शर्मा का शुरुआती जीवन

छोटू शर्मा का जन्म हिमाचल प्रदेश के एक गाँव में हुआ था. उनकी स्कूली शिक्षा वही के एक छोटे से स्कूल में हुई उसके बाद उन्होंने वही के एक सरकारी कॉलेज से उन्होंने B.A किया

B.A के बाद वह गांव में नौकरी का कोई चांस नहीं मिला न ही वह इतनी सम्भावना थी इसलिए उन्होंने चंडीगढ़ आने का फैसला किया

चंडीगढ़ में भी उन्हें कोई नौकरी नहीं मिल पाई क्योंकि Employer उनसे professional degree मांगते , जो उनके पास नहीं थी. आखिरकार एक friend ने उन्हें सलाह दी की वो computer कोर्स कर ले क्योंकि उन दिनों computer इंडिया में नए नए आये थे। इसलियर computer course की demand भी काफी ज्यादा थी पर अब एक और समस्या थी की उनकी जेब में फीस भरने के पैसे नहीं थे।

चपरासी की नौकरी (He joined the job of a peon at Aptech Computer Center)

अब छोटू शर्मा ने Computer Course करने के लिए चंडीगढ़ के एक local ‘Aptech Computer Center’ पर जा कर पता किया। पर वहां की फीस तो बहुत ज्यादा थी। क्योंकि उन दिनों Computer की Fees हज़ारो में हुआ करती थी। जो आज से बहुत ज्यादा थी अब क्या करते खाली हाथ घर वापस जा नहीं सकते थे. घर की आर्थिक स्थिति पहले से ही ख़राब थी. इसलिए उन्होंने ‘Aptech Computer Center’ में Peon की नौकरी कर ली और वहीं कम्प्यूटर कोर्स भी ज्वाइन कर लिया. दिन भर वे चपरासी का काम करते और रात में जागकर पढ़ाई करते और Computer course के fees उनकी Salary से कट जाया करती थी।

लेकिन उस computer course की फीस उन्हें चपरासी के रूप में मिलने वाली Salary से कहीं अधिक थी. ऐसे में कई बार उन्हें पैसों की कमी के कारण भूखे पेट भी सोना पड़ता था. लेकिन उस आर्थिक तंगी में भी उन्होंने अपनी पढ़ाई को Suffer नहीं होने दिया। उन्होंने ठान लिया था कि अब घर जाऊंगा तो कुछ बन के ही जाऊंगा।

computer center में वह हर समय खाली कम्प्यूटर की तलाश में रहते थे. जब कभी उन्हें खाली कम्प्यूटर मिलता, वे प्रैक्टिस करने बैठ जाते थे.

वह मन लगाकर कम्प्यूटर सीख रहे थे और कम्प्यूटर पर उनकी expertise बढ़ती गयी।. वह खुद भी practice करते ही, साथ ही वहाँ आने वाले अन्य छात्रों की भी सहायता करते हुए अपनी Practice भी करते रहते। ऐसा करते-करते उनमें Teaching Skills भी Develop हो गए।

Joined as Aptech Computer Center Teacher( from peon to teacher )

जहाँ वह job करते थे वही के Computer Teacher बने। उन्होंने center पर पड़ते पड़ते ‘MicroSoft Certified Software Developer Course’ की परीक्षा दी और उसे पास कर लिया। तो ‘Aptech’ के संचालक ने उनके सामने Faculty के तौर पर उसी कम्प्यूटर center में पढ़ाने का प्रस्ताव रखा. यह प्रस्ताव छोटू शर्मा ने सहर्ष स्वीकार कर लिया.

इस तरह छोटू शर्मा उसी Computer center के शिक्षक बन गए, जहाँ वह चपरासी का काम करते थे. शाम के समय वह कम्प्यूटर सेण्टर में पढ़ाते अपने वेतन के पैसों की बचत से उन्होंने एक साइकिल खरीद ली, जिससे वह दिन में छात्रों के घर जाकर Computer tuition देने लगे।

अपना computer institute start किया।

Year 2000 तक उन्हें Teaching के काम से अच्छी खासी कमाई होने लगी थी. लेकिन वे ज़िंदगी भर दूसरों की नौकरी नहीं करना चाहते थे. उन्होंने अपनी बचत के पैसों से दो कमरे का फ्लैट किराये पर ले लिया और वहाँ अपना स्वयं का computer institute Open कर दिया।

6 महीने में ही 80 से ज्यादा छात्र वहाँ कम्प्यूटर सीखने आने लगे. तब उन्होंने एक बड़ी जगह ले ली और कुछ और कम्प्यूटर खरीद लिए. उनकी मेहनत से धीरे-धीरे उनके computer institute का नाम होने लगा और वहाँ छात्रों की संख्या बढ़ने लगी. कुछ ही समय में ‘Dot Net’ के प्रशिक्षण में चंडीगढ़ में उनका नाम Famous हो गया.

Started ‘CS Infotech’ Institute & ‘CS Soft Solution’ Company

2007 तक उन्होंने चंडीगढ़ में कई स्थानों पर ‘CS Infotech’ नाम से अपने Institute खोल लिए. आज वहाँ 1000 से भी ज्यादा student Computer Training करने लगे।.

2 साल बाद 2009 में उन्होंने मोहाली में जमीन खरीदकर अपनी कंपनी ‘CS Soft Solution’ स्थापित की. यह कंपनी कई बड़ी कंपनियों को software services प्रोवाइड करती है।

Honour and Reward (पुरूस्कार और सम्मान)

उनके कार्यों को देखते हुए हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के द्वारा उन्हें 2007 में ‘हिमाचल गौरव’ का Award दिया गया।

आज उनकी कंपनी ‘CS Soft Solution’ में 125 से ज्यादा Employee कार्य करते है. उनके Institute से निकले छात्र MicroSoft, TCS, Infosys और Accenture जैसी कई बड़ी कंपनियों में Job कर रहे है. आज छोटू शर्मा चंडीगढ़ में ‘गुरु ऑफ़ माइक्रोसॉफ्ट टेक्नोलॉजी’ के नाम से प्रसिद्ध है.

Friends, यदि आपको “Chhotu Sharma Owner Of CS Soft Solution Success Story”( from peon to succesful entrepreneur)  पसंद आई हो, कृपया अपने comments के माध्यम से बताएं कि आपको यह success Story कैसी लगी। Category: inspirations

One thought on “चपरासी से 10 करोड़ की कंपनी के मालिक बनने का सफ़र | Chhotu Sharma Owner Of CS Soft Solution Success Story In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *