Awesome : dehradun mothers gifting items business 3 crore income | देहरादून की दो मम्मीयां कमाती हैं सालाना तीन करोड़ रुपए

By | October 15, 2022

देहरादून की बिजनेस मॉम्स: 50 साल की उम्र में भी शुरू की कंपनी, हर साल कमाती हैं 3 करोड़ रुपए

निशा गुप्ता और गुड्डी थपलियाल जिन्होंने कुछ वर्ष पूर्व अपने घर से ही एक बिजनेस की शुरूआत की थी और इनका ये बिजनेस 3 करोड़ रुपए तक का हो गया है।

Awesome : dehradun mothers gifting items business 3 crore income | देहरादून की दो मम्मीयां  कमाती हैं सालाना तीन करोड़ रुपए

जब कुछ करने का इरादा हो, तो उम्र रह में रोड़ा नहीं बन सकती , जी हाँ, यही सच कर दिखाया देहरादून की इन दो मॉम्स ने, जो हाउस वाइव्स थी, और उन्हें बिज़नेस का कुछ भी आईडिया नहीं था। लेकिन जब सोच लिया तो डरना क्या।

‘जहाँ चाह, वहाँ राह’ यह कथन तो आपने सुना ही होगा। जब मज़बूत इच्छाशक्ति हो तो सफलता अवश्य मिलती है, चाहे आप बच्चे हों, जवान या फिर बूढ़े। उम्र का बंधन आपको बाँध नहीं सकता। कुछ ऐसी ही दो मम्मियाँ हैं निशा गुप्ता और गुड्डी थपलियाल, जिन्होंने अपनी उम्र को दरकिनार करते हुए, अपनी मेहनत से कामयाबी प्राप्त की। लगभग चार वर्ष पूर्व इन्होंने अपने घर से ही एक बिजनेस की शुरूआत की थी और इनका ये बिजनेस 3 करोड़ रुपए तक का हो गया है।

Awesome : dehradun mothers gifting items business 3 crore income | देहरादून की दो मम्मीयां कमाती हैं सालाना तीन करोड़ रुपए

घर पर ही शुरू किया गिफ्ट आइटम का व्यवसाय

निशा गुप्ता जी , जो की एक ग्रेजुएट महिला हैं और एक उद्यमी परिवार से सम्बन्ध रखती हैं। निशा जी ने पहले अपने घर पर चलने वाली दुकान पर ही घरेलू सामान के साथ साथ कुछ गिफ्ट आइटम्स बेचने की सोची , ताकि इनकम को कुछ बढ़ाया जा सके , पहले उन्होंने छोटे छोटे कुछ गिफ्ट्स बेचे, जिससे उन्हें पता चला कि व्यापार किस तरह किया जाता है।, और लोगो की किस तरह के गिफ्ट पसंद आते है , इसमें कितना मार्जिन मिल सकता है। बाद में उनकी दूसरी पार्टनर गुड्डी थपलियाल जी को भी अपने साथ आने के लिए प्रोत्साहित किया।

गुड्डी थपलियाल जी बहुत मेहनती तो थी , उनका लोकल कारीगरो के साथ अच्छा कनेक्शन भी था ,लेकिन गुड्डी थपलियाल जी सिर्फ़ 5वीं क्लास तक ही पढ़ी हुई हैं। , लेकिन उनकी पढाई उनके आड़े नहीं आयी , हालाँकि जब उन्होंने जब यह व्यापार शुरू किया था तब उन्हें इसका बिल्कुल भी अनुभव नहीं था।

निशा जी के बच्चे आईटी फील्ड में काम करते हैं, उन्होंने उन्हें इस बिज़नेस को ऑनलाइन ले जाने का सुझाव दिया। उन्होंने भी जल्दी से इस प्रस्ताव को मान लिया और शुरू कर दिया अपना ऑनलाइन प्लेटफॉर्म और नाम रखा GEEK MONKEY

Geek Monkey नाम से शुरू किया ऑनलाइन गिफ्टिंग प्लेटफॉर्म

गुड्डी थपलियाल जी भी चाहती थीं कि बिज़नेस और ग्रो करे और वे और निशा जी साथ में मिलकर बिजनेस को बढ़ाये उन्होंने और निशा जी ने एक दूसरे को पूरा सपोर्ट किया और फिर दोनों ने व्यवसाय की तैयारी शुरू कर दी। फिर इन्होंने वर्ष 2017 में Geek Monkey नाम से अपने एक ऑनलाइन गिफ्टिंग प्लेटफार्म का शुभारंभ किया। पर उनकी राह आसान नहीं थी , क्युकी इस मार्किट में पहले से ह बहुत से ऑनलाइन प्लैटफॉर्म्स थे , जो पहले से ही यह काम कर रहे थे, उनको कम्पटीशन को भी बीट करना था ,और अपनी जगह भी मार्किट में बनानी थी , और यह काम बिलकुल भी आसान नहीं था

 

यूनिक गिफ्टिंग आइटम्स पर काम शुरू किया [ dehradun mothers gifting items business 3 crore income ]

अब ऐसे में इन्हें यह सोचना था कि इनके गिफ्ट शॉप दूसरों से कैसे अलग हो, और किस प्रकार से कस्टमर्स इन की शॉप की तरफ़ आकर्षित वह इनके गिफ्ट आइटम्स को पसंद करें। इन दोनों मॉम्स ने मिलकर इस समस्या का भी समाधान निकाल ही लिया। , उन्होंने लोकल कारीगरों को कांटेक्ट किया और हेंडीक्राफ्ट आइटम्स को ज्यादा प्रमोट किया।

निशा गुप्ता और गुड्डी थपलियाल जिन्होंने कुछ वर्ष पूर्व अपने घर से ही एक बिजनेस की शुरूआत की थी और इनका ये बिजनेस 3 करोड़ रुपए तक का हो गया है।,dehradun business moms

हस्तशिल्प कला से जुड़े गिफ्ट्स पर ज्यादा ध्यान दिया

उन्होंने अपनी वेबसाइट पर ऐसे गिफ्ट आइटम रखे जो दूसरी वेबसाइट से अलग थे, कुछ विशेष गिफ्ट आइटम जैसे कि हैंड मेड गिफ्ट आइटम्स को अपनी वेबसाइट पर रखा, जिसके लिए उन्होंने विभिन्न हस्तशिल्प कलाकारों को अपने साथ जोड़ा। धीरे-धीरे इनका व्यवसाय बढ़ता गया और आज ये दोनों इस बिजनेस में बहुत कामयाब हो गई हैं। और करोड़ो में कमाई कर रही है।

 

गुड्डी जी ने उनकी इस कामयाबी का श्रेय उनके द्वारा ग्राहकों के साथ की गई व्यक्तिगत बातचीत को दिया है। इनकी वेबसाइट पर अपने कस्टमर्स के लिए अलग-अलग क़ीमत और विभिन्न प्रकार के गिफ्ट हैं। वे 99 रुपए से लेकर 13, 000 रुपए तक के भी उपहार अपनी वेबसाइट पर बेचती हैं। इन दोनों सुपर बिजनेस मॉम्स ने सभी को सिखाया है कि सफलता उम्र की मोहताज नहीं होती है।

 

यदि आपको CHANGE YOUR LIFE की MOTIVATIONAL कहानियां पसंद आती हैं या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हैं तो हमें नीचे  comment करे ,और इसे अपने Facebook friends के साथ ज़रूर share करें,  [email protected] पर लिखें या Facebook, Twitter पर संपर्क करें।

यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है : [email protected] पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

यह भी  पढ़े :-

1.25 लाख की नौकरी छोड़, इंजीनियर COUPLE ने शुरू किया ‘चाऊमीन का ठेला

लॉकडाउन में बरसों का बिज़नेस हुआ ठप, पर नहीं मानी हार, अब केक बेचकर कमा रहीं लाखों में

ढाबा चलानेवाला12वीं पास लड़का, बन गया रिजॉर्ट का मालिक | 12th pass boy running Dhaba, became the owner of the resort

Amazing : Stroy-of-momos-king-came-in-search-of-job | कैसे बने मोमोस किंग, काम की तलाश में गढ़वाल से आए थे लखनऊ,आज 4 रेस्टोरेंट्स के हैं मालिक  

बेटे के चॉकलेट खाने की ज़िद ने लॉकडाउन में शुरू करवा दिया टीचर मम्मी का साइड बिज़नेस

sanskar-real-education | 10 संस्कार जो बच्चे को सीखने जरुरी है।

चाय पी के cup खा लो

 

सपनों का मतलब | सपनों का अर्थ | sapno ka matlab | sapno ka matlab hindi

 

YouTube चैनल शुरू करते ही होगी अंधाधुंध कमाई, जानें कमाल का तरीका

 

medium.com

REFERENCE

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *