Started hand made beauty products by borrowing Rs 5000 from mother

By | July 19, 2022

5000 रुपए माँ से उधार लेकर काम शुरू किया ,आज हजारो ग्राहकों की पसंद बने हैंड मेड ब्यूटी प्रोडक्ट्स

Table of Contents

Handmade natural products by VIU Naturals owned by Rakhi Shrivastav From Raipur , Started hand made beauty products by borrowing Rs 5000 from mother

Handmade natural products by VIU Naturals owned by Rakhi Shrivastav From Raipur

 

5000 रुपए माँ से उधार लेकर शुरू किया हैंड मेड ब्यूटी प्रोडक्ट्स | Started hand made beauty products by borrowing Rs 5000 from mother | 5000 रुपए माँ से उधार लेकर शुरू किया हैंड मेड ब्यूटी प्रोडक्ट्स |Started hand made beauty products by borrowing Rs 5000 from mother

 

 

यह सफलता की कहानी है राखी श्रीवास्तव की ,जो VIU ब्रांड नाम से हैंडमेड नेचुरल प्रोडक्ट्स बनाती हैं। उनके बनाये प्रोडक्ट्स अमेज़न और फ्लिपकार्ट जैसे ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स के अलावा, फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म्स के ज़रिए खूब बिकते हैं। और यही नहीं आज 2000 से ज्यादा नियमित ग्राहक हैं उनके , और वह इस बिज़नेस के जरिए वह हर साल लाखों का प्रॉफिट कमा रही हैं।

वह छोटी सी जगह रायपुर (छत्तीसगढ़) की रहनेवाली एक साधारण घरेलु महिला थी। आज उनके चाहने वालो की कमी नहीं है , लोगो को उनके बनाये प्रोडक्ट बहुत पसंद आ रहे है ,और फेसबुक पर उनके VIU हैंडमेड नेचुरल प्रोडक्ट्स के काफी अच्छे रिव्यु भी आ रहे है कि उनके प्रोडक्ट्स झड़ते बालों से लेकर चेहरे के दाग तक पर काफी कारगर हैं।

उनके इस काम की शुरुआत कुछ ऐसे हुई कि , उनकी एक जानने वाली महिला अपनी त्वचा की वजह से काफी परेशान थी। उन्होंने उन्हें अपने हैंड मेड प्रोडक्ट्स बना कर दिए उन्हें हैंडमेड प्रोडक्ट्स का फायदा ऐसा हुआ कि उनके चेहरे के साथ उनके जीवन में भी नया रंग भर गया।

 

HAND MADE beauty products business by RakhI , Started hand made beauty products by borrowing Rs 5000 from mother

HAND MADE beauty products business by RakhI

छोटा मोटा काम करती थी घर चलने के लिए।

उनके पति दिल्ली में एक प्राइवेट कंपनी में काम करते थे,और राखी एक गृहिणी थीं , लेकिन कुछ ऐसा हुआ , कि साल 2015 में उनके पति की नौकरी चली गई थी।, अब ऐसा समय भी आया की उनके पास माकन का किराये देने के पैसे भी नहीं थे।

अब उनके पास कोई चारा नहीं था तो वह दिल्ली छोड़कर अपने शहर बिलासपुर (छत्तीसगढ़) आने का फैसला किया और यहाँ आकर , राखी ने परिवार को चलाने के लिए छोटा-मोटा काम करना शुरू किया। उन्होंने कपड़े बेचे , और फिर फ़ूड बिज़नेस करने की कोशिश की, लेकिन कोई भी बिज़नेस ज्यादा नहीं चला।

तभी उन्होंने देखा कि लोग झड़ते बालों या फिर स्किन संबधी कई परेशानियों के लिए केमिकल का इस्तेमाल करते हैं और इससे छुटकारा पाने के लिए महंगे-महंगे प्रोडक्ट्स भी खरीद लेते हैं। और तभी उन्हें हैंडमेड नेचुरल प्रोडक्ट्स बिज़नेस के बारे में सुना।

अब राखी ने सोचा कि क्यों न प्राकृतिक तरीके से कुछ घर पर कुछ बनाया जाए। फिर उन्होंने अपनी दादी-नानी के नुस्खों से और थोड़ा रिसर्च करके घर पर ही एक तेल बनाया। और उन्होंने इस तेल को अपने तीन जानने वाले लोगों को फ्री में ही इस्तेमाल करने को दिया,

ताकि पता चले की प्रोडक्ट कैसा बना है , उसका इतना अच्छा रेस्पॉन्स मिला कि उनका आत्मविश्वास काफी बढ़ गया। और उनके झड़ते बालों की समस्या काफी हद तक कम हो गई है। तब उन्हें लगा की यह काम अच्छा चल सकता है। और अब उन्होंने सोचा की किसी काम को सीख कर अच्छे से शुरू करना चाहिए और उन्होंने निर्णय लिए कि वो इन हैंडमेड नेचुरल प्रोडक्ट्स को अच्छे से बनाना सीखेंगी।

 

कोर्स सीखने के लिए पैसे कहाँ से आये।

उन्होंने एक ऑनलाइन कोर्स के लिए 7000 रुपए चाहिए थे, वो भी उनके पास नहीं थे ,उन्होंने पति की जमा पूंजी लगाने के साथ बैंक से भी ओवरड्राफ्ट लिया। उन्होंने ऑनलाइन स्किन केमेस्ट्री नेचुरोपैथी कोर्स किया, जिसमें नेचुरोपैथी तकनीक से हैंडमेड नेचुरल प्रोडक्ट्स बनाना सीखा था। अब बिज़नेस को शुरू करने के लिए उन्होंने, अपनी माँ से 5000 रुपये उधार लिए

और उन पांच हजार रुपयों में से 3000 रुपये का सामान ख़रीदा और बाकि के पैसे संभालकर रख दिए थे। ताकि अगर यह बिज़नेस भी न चले, तो कुछ पैसे बचे रहे।

घर पर ही हैंडमेड नेचुरल प्रोडक्ट्स बिज़नेस शुरू किया

इस काम में उनके पति ने भी उनका साथ दिया , और इसी तरह VIU प्रोडक्ट्स की शुरुआत हो गई।

कुछ साल के बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर भी अपने प्रोडक्ट्स का प्रमोशन शुरू किया। उनकी दिन रात की मेहनत रंग लायी और साल 2018 में उन्हें एक बड़ा ऑर्डर मिला, और उन्हें एक बड़ी कंपनी के साथ जुड़ने का मौका मिला। इस ऑर्डर के बाद, उन्होंने अपनी कंपनी को रजिस्टर करवाया और खुद का छोटा मैन्युफैक्चरिंग यूनिट शुरू किया।

अब लाखो में कमाई

उनके प्रोडक्ट्स में इतना दम था की , मार्केटिंग में एक पैसा भी खर्च किए बिना भी , उन्हें कई बड़े ऑर्डर्स मिले और , आज 2000 से ज्यादा ग्राहक उनके साथ नियमित रूप से जुड़े हुए है।

राखी की सफलता , एक सबक है , एक सीख है , हर औरत के लिए , जो अपने जीवन कुछ कर गुजरना चाहती है , राखी ने हालातों के आगे घुटने नहीं टेके, बल्कि डट कर उनका सामना किया और कठिन समय को ज़िन्दगी में आगे बढ़ने के लिए एक मौका बनाया ।

अगली सफलता की कहानी आपकी भी हो सकती है , ज़रूरत है बस एक कदम आगे बढ़कर वह कर दिखाने की, जिसके आप काबिल हैं!

राखी के हैंडमेड नेचुरल प्रोडक्ट्स के बारे में ज्यादा जानने के लिए या उनका हौसला बढ़ाने के लिए आप उन्हें फेसबुक पर संपर्क कर सकते हैं।

 

यदि आपको CHANGE YOUR LIFE की MOTIVATIONAL कहानियां पसंद आती हैं या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हैं तो हमें नीचे  comment करे ,और इसे अपने Facebook friends के साथ ज़रूर share करें,  [email protected] पर लिखें या Facebook, Twitter पर संपर्क करें।

यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है : [email protected] पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

यह भी  पढ़े :-

1.25 लाख की नौकरी छोड़, इंजीनियर COUPLE ने शुरू किया ‘चाऊमीन का ठेला

लॉकडाउन में बरसों का बिज़नेस हुआ ठप, पर नहीं मानी हार, अब केक बेचकर कमा रहीं लाखों में

ढाबा चलानेवाला12वीं पास लड़का, बन गया रिजॉर्ट का मालिक | 12th pass boy running Dhaba, became the owner of the resort

Amazing : Stroy-of-momos-king-came-in-search-of-job | कैसे बने मोमोस किंग, काम की तलाश में गढ़वाल से आए थे लखनऊ,आज 4 रेस्टोरेंट्स के हैं मालिक  

बेटे के चॉकलेट खाने की ज़िद ने लॉकडाउन में शुरू करवा दिया टीचर मम्मी का साइड बिज़नेस

sanskar-real-education | 10 संस्कार जो बच्चे को सीखने जरुरी है।

चाय पी के cup खा लो

 

सपनों का मतलब | सपनों का अर्थ | sapno ka matlab | sapno ka matlab hindi

 

YouTube चैनल शुरू करते ही होगी अंधाधुंध कमाई, जानें कमाल का तरीका

 

medium.com

image courtesy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *