10 Genius Tricks-to-increase-your-prestige-in-society | समाज में अपना मान -सम्मान बढ़ाने की 10 ट्रिक्स

By | March 31, 2022

Tricks to increase your prestige in society |

समाज में अपना मान -सम्मान बढ़ाने की ट्रिक्स

tricks-to-increase-your-prestige-in-society , Tricks to increase your prestige in society |  समाज में अपना मान -सम्मान बढ़ाने की ट्रिक्स 

 

Tricks-to-increase-your-prestige-in-society

हम अक्सर अपने आस पास ऐसे लोगो को देखते है , जिनकी समाज में एक अलग ही पहचान होती है , हर जगह उनका सामान होता है। किसी भी सार्वजानिक कार्यक्रम में उन्हें invite किया जाता है , सब उनको आदर भरी दृष्टि से देखते है ,

कभी कभी हमें भी ऐसा लगता है , की हमें भी समाज में ऐसा मुकाम हासिल करना चाहिए , और हमें भी समाज में ऐसा आदर मान-सम्मान और प्यार मिले।

पर आखिर उनमे ऐसा क्या है , और उनमे ऐसी क्या खुबिया है , जो हममे नहीं है , तो क्या हम भी अपने अंडर ऐसा transformation कर सकते है। मतलब हम अपने अंदर ऐसा बदलाव कर सकते है कि , हमें भी ऐसा आदर सम्मान मिले, सब लोग हमारी वैल्यू समझे

तो आइए जानते है कि उन्हें अंदर ऐसी क्या बात है , और वो हम कैसे अपने अंदर ला सकते है।

1.अपनी इज्जत खुद करें

हर काम कि शुरुआत अपने से ही होती है , तो इसलिए अपनी इज्जत करना भी आप खुद पहले अपने से शुरू करे। । यदि आप अपनी खुद की value नहीं करेंगे तो कोई और भी आपकी value नहीं करेगा।

अपने आप को स्पेशल समझे खुद अपनी नजरो में , तभी आप लोगो में भी वो mind set डाल पाएंगे। हमेशा ये समझे कि भगवन ने आपको स्पेशल बनाया है , और आप बहुत ही intelligent और समझदार है , अगर आप खुद ही अपने कि बेवकूफ समझेंगे तो लोगो को क्या जरुरत है , कि वो आपको समझदार समझे

2.हमेशा positive words यूज़ करे।

देखिये , किसी भी बात को कहने के दो तरीके होते है , जैसे आप किसी को कहता है , “आप क्या कह रहे हो , मैं बेवकुफ हूँ ?” इसमें आप खुद अपने मुँह से एक बार कह रहे है , कि आप बेवकूफ है।

लेकिन आर आप इसी बात को ऐसे कहे कि “आप क्या कह रहे हो, मैं बहुत समझदार व्यक्ति हूँ “। आपने बात तो वही कही , लेकिन देखो आपने अपने आप को समझदार कहा है।

जब आप अपने मुँह से अपने आपको समझदार कहोगे , तो सामने वाले के मन में भी आपकी वैसी ही इमेज बनेगी ,
जैसे आपको सर दर्द हो रहा है , आपसे किसी ने पूछा ” कि अब दर्द में कितना आराम है ”

आपने answer दिया ” अब भी 50 % दर्द है ”

इसी बात को आप ऐसे भी कह सकते है ” अब 50 % आराम है । ” , आप दर्द को क्यों बता रहे हो , आप आराम को बताओ कितना है।
ऐसे ही हर बात में पॉजिटिव तरीका अपनाये , उसी बात को कहने का सही तरीका अपनाओ , ना कि गलत तरीका

3.बहुत ज्यादा available न रहे

संसार का नियम है कि जो भी चीज ज्यादा आसानी से उपलब्ध होती है , उसकी कोई वैल्यू नहीं करता , लेकिन अगर कोई चीज़ आसानी से उपलब्ध नहीं है , तो लोग उसकी वैल्यू समझते है ,

देखो ये तो दुनिया है ना, ये demand एंड supply रूल पर चलती है , जब मार्किट में किसी चीज़ की supply कम हो , तो उसकी demand बढ़ जाती है , और जो चीज मार्किट में कम मिलने लगती है , उसकी demand बढ़ जाती है ,

ऐसे ही आप भी जब हर समय हर किसी कभी भी available रहते है। जब मर्जी आपको बुलाओ , आप आ गए , तो सामने वाला आपको खाली
समझने लगता है , वो आपकी कोई कदर नहीं करेगा ।

और अगर आप हर समय उपलब्ध नहीं है , मतलब आप कहते है , की ” मैं अभी बिजी हु , बताओ क्या काम है , या हम शाम को मिल सकते है “, तो सामने वाल आपको इज्जत भरी निगाहो से देखेगा, और वो आपकी value समझेगा।

इसका कारण है, जो चीज़ ज्यादा मार्किट में ज्यादा available होती है उसका दाम कम होता जाता है और जो चीज़ मार्किट में जरूरत से कम available होती है तो उस चीज का दाम ज्यादा होता है।

यह नियम आप पर भी लागू होता है। हर समय अपने आप को खाली मत show करे।

4.कम बोले

कम बोले , नपा तुला बोले , ज्यादा बोलने वाले को लोग SERIOUSLY नहीं लेते , वो सोचते है , ये तो ऐसे ही हर समय बोलता रहता है ,
अगर आप ऐसा करते है तो आपकी बात की value कोई नहीं करता होगा।

आप चाहे जितना मर्जी काम की बात बताये , और सही बात बोले, लेकिन अगर आप ज्यादा बोलते है , तो लोग आपको “TAKE IT GRANTED ” लेने लग जाते है , मतलब अच्छी बात और ज्ञान को वो ऐसे ही सुन कर उसको IGNORE करेंगे । तो आपके बात और ज्ञान की value कम हो जाती है।

कई बात हमने देखा होगा कि कुछ लोग ,जो बहुत ही कम बोलते है,लोग उनकी हर एक बात पुरे ध्यान से सुनते है।

आप भी इस बात को समझे और , अपनी value बढ़ाने के लिए कम बोले, नपा तुला बोले , और धीरे बोले ,। आप जितना कम और धीरे बोलेगे आपके बात की उतनी ज्यादा value बढ़ जाएगी।

5.अपना समय बर्बाद न करें

जिसने समय का मोल नहीं किया उससे समय ने उसका मोल छीन लिया | जीवन आखिर है क्या ? समय के एक-एक पल से बना हुआ घरौंदा ही तो | इसलिए समय की बर्बादी मतलब जीवन की बर्बादी |

कुछ करने के बाद जब आपका दिल और दिमाग़ आपको इस बात का अहसास करवाए की आज आपने ऐसा कुछ भी नहीं किया है, जिस को करने से संतुष्टि मिलती।

समझ लेना चाहिए की जितना भी समय जहाँ भी, जिस भी काम में ख़र्च किया है, वह पूरी तरह से अनुउपयोगी रहा।

मतलब जाने-अनजाने में आपने समय को बर्बाद कर दिया है।

“यदि आप यह सोच कर अपने हाथ से दीवार पर मार रहे है, ऐसा करने से आपके लिए यहाँ एक दरवाज़ा बन जाएगा, तो समझ लीजिए कि आप केवल और केवल अपना समय बर्बाद कर रहे है।”

अर्थात हमारा अंतर्मन इस बात को बड़ी आसानी से पहचान लेता है की हम जो कर रहे है वह हमें आगे की और ले जाएगा या पीछे की और धकेलेगा।

6.अपनी तारीफ खुद न करें

अपने मुख से अपनी प्रशंसा करना आत्महत्या के समान है। जो भी व्यक्ति अपनी प्रशंसा खुद करता है और अपने आप को बहुत कुछ खुद ही समझने लगता है ऐसा व्यक्ति कदापि उन्नति नहीं कर सकता।

अपने आप खुद अपनी प्रशंसा करना या मन में दूसरों के मुख से प्रशंसा सुनने की इच्छा रखना
अगर कोई व्यक्ति खुद ही बताता रहता है कि मैं समाज के लिए ये ये कार्य करता हूं या मैंने इतने काम किए हैं तो इसमें हमारा अहंकार झलकने लगता है।

जब हम सोचते है , मैंने कितना अच्छा किया, यह सोचने या कहने पर ऐसा लगता है कि मैं कुछ हूं, बहुत कुछ हूं। भारतीय संस्कार यह शिक्षा देते हैं- हमेशा अवगुण अपने देखो और गुण दूसरों के।

अपनी खुद की प्रशंसा से दूर रहना चाहिए। स्वयं -प्रशंसा से लोगों के मन में हमारी छवि अच्छी नहीं बनती। बल्कि ऐसा व्यक्ति स्वयं को उपहास का पात्र बना लेता है।

लोगो के द्वारा की गई झूठी प्रशंसा से भी दूर रहना चाहिए , इसमें उनकी कोई चाल छुपी हो सकती है ,एक बार एक कौवे को कही से एक रोटी मिली। वह पेड़ की टहनी पर बैठकर जैसे ही खाने लगा तभी वह एक सियारिन आ गई ,

उसने रोटी पाने की कोशिश में उसकी प्रशंसा करते हुए कहा- हे कौआ! तुम तो बहुत सुंदर हो, तुम्हारा कला रंग बड़ा मनमोहक है, तुम्हारे पंख भी बहुत बढ़िया है तुम्हारी आवाज तो इतनी मिट्ठी है , कि, मुझे सुन कर बहुत आनंद आया, एक बार और अपनी मिठ्ठी आवाज सुनाओ तो

अब ये तो सब जानते है कि कौवे की आवाज मधुर नहीं होती है , झूठी प्रशंसा से प्रसन्न हो कौवे ने कांव-कांव की आवाज निकाली। आवाज निकालते ही उसके मुंह में दबी रोटी नीचे गिर गई। सियारिन ने उस रोटी को उठाया और अपने रस्ते चल पड़ी ऐसे ही लोग अपना काम निकलने के लिए हमारी झूठी तारीफ करते है।

7.ज्ञान बढ़ाए

ज्ञान ही सफलता की कुंजी है, जब आप ज्ञानी होते हैं, तो कोई भी आपको हल्के में नहीं ले सकता, और आपको मूर्ख नहीं बना सकता, जीवन के हर क्षेत्र में, चाहे वह नौकरी हो या व्यवसाय, ज्ञान को उन्नत करना आवश्यक है।

शिक्षा एक ऐसा धन है , जिसे” चोर चुरा नहीं सकता ,राजा छीन नहीं सकता , युद्ध हो या आपात कल हो , आप देश में हो विदेश में हो , ये हमेशा आपके साथ है , सरकार इस पर टैक्स नहीं लगा सकती, और विद्या ही एक ऐसा धन है , जो दान करने से बढ़ता है। ”

और आप हमेशा समाज में अपनी ज्ञान के बल पर इज्जत , मान-सम्मान, पैसा , शोहरत , सब कुछ कमा सकते है , , चाहे आप बिज़नेस करते हो या जॉब , ज्ञान से तरक्की संभव है , और ज्ञान में निरंतर वृद्धि करना जरुरी है।

कोई भी कभी ये नहीं कह सकता की , “अब मैं सर्व गुण संपन्न हो गया हूँ , मुझे दुनिया के सब ज्ञान की प्राप्ति हो चुकी है” ,
ज्ञान की प्राप्ति एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है ,

हर आदमी जीवन भर कुछ सीखता रहता है , और हमेशा कुछ ना कुछ सिखने को बाकि रहता है , जिसका सीखना रुक गया , समझो उसकी तरक्की रुक गई , जिसकी सिखने की इच्छा रुक गई , मतलब उसका जीवन रुक गया।
ज्ञान रखने के साथ ही आप अपना ज्ञान दूसरों के साथ साझा भी करें।

8.अपनी पहचान बनाए

अपने समाज में , अपने दोस्तों में अपनी एक अलग इमेज बनाये , आज कल के लोग बस social media पर अपनी पहचान बनाने को ही सब कुछ समझते है। social media पर अपनी पहचान बनाने के साथ साथ , आपको अपने दोस्तों में , अपने आस पड़ोस में भी अपनी अलग पहचान बनानी चाहिए।
बस social media ही सब कुछ नहीं होता है। आपके आस-पास का पहचान आपको हद से ज्यादा value देगा।
जब भी आपके जीवन में कोई भी प्रॉब्लम आयेगी तो सोशल मीडिया के फ्रेंड्स आपके काम नहीं आ सकते ,

आपके आस-पड़ोस के या दोस्त ही सबसे पहले आपकी मुसीबत में सबसे पहले आप के पास पहुंचेंगे , आप अपनी पेचान अपने काम , अपनी सफलता से और अपने व्यवहार से बना सकते ह।

9. अपने वचन को पूरा करें

कभी भी कोई भी उत्तर देने में जल्दबाजी न करें, अपना समय लें, उत्तर देने से पहले ठीक से सोचें, कभी भी कोई भी।। वादा मत करो, जब आप खुश हों, तब निर्णय न लें, जब आप क्रोधित हों। हर समय एक दम निर्णय लेना जरुरी नहीं होता है।

जब कोई कोई निर्णेय लेना हो , सोचो, समझो , उस काम के फायदे और नुकसान सोचो, सबकुछ सोच कर तब निर्णय ले , और फिर उस पर अमल करे।
हमें जल्द किसी को वचन नहीं देना ही नहीं चाहिए। लेकिन अगर हमें वचन देना ही पड़े , तो ये सोच कर वचन दे , इसे पूरा कर भी सकते है या नहीं।
वचन देने से पहले ही सोच ले कि आप कैसे अपने वचन को पूरा करेंगे? लेकिन जब एक बार आप जब भी कोई promise करे तो उसको समय के अनुसार पूरा कर दे।तभी समाज में आपकी वैल्यू बनेगी और बढ़ेगी भी।

अगर लोगो के मन में आपके लिए ये इमेज बन गयी की , आपके जबान की कोई वैल्यू नहीं है , आप कह कर अपनी बात से फिर जाते है , फर कोई आपका मान -सम्मान नहीं करेगा। सम्मान उसकी का होता है जो अपनी बात का पक्का हो।

10. सफल इंसान बने

यह तो समाज में सर्व विदित ही है , कि पैसा बहुत बड़ी चीज़ है , ” पैसा सब कुछ नहीं है।, लेकिन बहुत कुछ है। ” आजकल के समाज में जिसके पास पैसा है , उसकी इज्जत है , उसकी value है , चाहे वो कैसी भी शक्ल सूरत का हो, चाहे वो गोरा हो या काला , ये कोई महत्व नहीं रखता । चाहे वो गलत हो या सही , पैसा सब ऐब ढक देता है ,इसका मतलब ये नहीं है। कि आप गलत तरीके से पैसा कमाए,

लेकिन कुछ भी हो , हमेशा अपनी आय बढ़ाने के प्रयासों पर काम करते रहे , आय के कई स्रोत उत्पन्न करने का प्रयास करें, अमीर लोग हमेशा धन की कई धाराएँ बनाने की कोशिश करते हैं, और आय के एक स्रोत पर निर्भर नहीं रहते हैं।

हर अमीर आदमी एक से ज्यादा पैसा कमाने के जरिये बनाते है। अगर किसी समय एक स्त्रोत काम नहीं करता है , तो उस समय अन्य स्त्रोत से पैसा आ रहा होता है।अपनी value ज्यादा बढ़ाने के लिए और बढ़ाए रखने के लिए आप कामयाबी की ओर बढे। आप जिस दिन सफल हो जाएंगे । उस दिन आपकी value और ज्यादा बढ़ जाएगी।

 

 

यदि आपको CHANGE YOUR LIFE की MOTIVATIONAL कहानियां पसंद आती हैं या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ साझा करना चाहते हैं तो हमें नीचे  comment करे ,और इसे अपने Facebook friends के साथ ज़रूर share करें,  thechangeyourlife@gmail.com पर लिखें या Facebook, Twitter पर संपर्क करें।

यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है : thechangeyourlife@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

यह भी  पढ़े :-

1.25 लाख की नौकरी छोड़, इंजीनियर COUPLE ने शुरू किया ‘चाऊमीन का ठेला

लॉकडाउन में बरसों का बिज़नेस हुआ ठप, पर नहीं मानी हार, अब केक बेचकर कमा रहीं लाखों में

 

sanskar-real-education | 10 संस्कार जो बच्चे को सीखने जरुरी है।

एक गरीब बेबस बच्चे और उसकी विधवा माँ की हृदय विदारक कहानी

 परमात्मा की लाठी

NEVER REGRET : 5-things-you-should-never-do | 5 चीजें जो आपको कभी नहीं करनी चाहिए  ?

 

ढाबा चलानेवाला12वीं पास लड़का, बन गया रिजॉर्ट का मालिक | 12th pass boy running Dhaba, became the owner of the resort

 

चाय पी के cup खा लो

 

सपनों का मतलब | सपनों का अर्थ | sapno ka matlab | sapno ka matlab hindi

 

YouTube चैनल शुरू करते ही होगी अंधाधुंध कमाई, जानें कमाल का तरीका

 

बेटे के चॉकलेट खाने की ज़िद ने लॉकडाउन में शुरू करवा दिया टीचर मम्मी का साइड बिज़नेस

 

medium.com

image coutesy

Leave a Reply

Your email address will not be published.